कोलकाता। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के बेलडांगा की एक 19 वर्षीय लड़की को बरहमपुर जिला अदालत से जमानत मिल गई। पुलिस ने 11 जून को ऐशानी बिस्वास को उसके विवादास्पद फेसबुक पोस्ट को लेकर गिरफ्तार किया था, जिसमें उसने मांग की थी कि “दंगाइयों को देश से भगा दिया जाए।” रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की के वकील चितरंजन दास ने कहा, “बेलडांगा के ऐशानी विश्वास और सागरपाड़ा के सुदेशना मंडल नाम के दो किशोरों को बरहमपुर जिला अदालत में पेश किया गया। जिला अदालत की सीजेएम अपर्णा चौधरी ने कुछ शर्तों के साथ उन्हें जमानत दे दी।”

पिछले हफ्ते बंगाल के मुर्शिदाबाद में विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया था। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर ईंटों से हमला किया, जब उन्होंने NH-34 के पास भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की। पश्चिम बंगाल पुलिस ने भी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा की ओर से पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था। वहीं, पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी को लेकर हिंसा की हालिया घटनाओं के खिलाफ बजरंग दल ने देश भर में विरोध प्रदर्शन किया और राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) से इसकी जांच की मांग की।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − five =