कोलकाता। पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) एक बार फिर आमने सामने हैं। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र कानून के शासन के तहत चलता है, व्यक्ति के शासन पर नहीं। जगदीप धनखड़ ने कहा कि संविधान के तहत सीएम ममता बनर्जी को गवर्नर के साथ बातचीत करनी ही होगी। मुझे लगता है कि वह इसको जरूर देखेंगी।

दअरसल, राज्यपाल ने यह बयान तब दिया जब वह बैरकपुर में गांधी घाट व गांधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण करन के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। इस दौरान धनखड़ ने कहा कि महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि पर हम सब को संकल्प लेना चाहिए कि हम अहिंसा और शांति के दूत बनें। प्रजातांत्रिक व्यवस्था में हिंसा का कोई स्थान नहीं है। हिंसा और प्रजातांत्रिक व्यवस्था एक दूसरे के दुश्मन हैं।

इसके बाद ममता सरकार पर हमला बोलते हुए राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि मैनें अपमान सहा है। आपके राज्यपाल ने खून की घूंट पिया है। क्या-क्या गालियां नहीं सुनी है। राज्य की सीएम राज्य में और राज्य के बाहर एक राजनीतिक मिशन पर हैं। कानून व लोकतंत्र को नजरदांज कर दिया गया है। कोई मुझे अपनी ड्यूटी करने से नहीं रोक सकता है। धनखड़ ने इस बात पर जोर दिया कि हिंसा और लोकतंत्र एक साथ नहीं चल सकते।

इससे पहले बंगाल के नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को झारग्राम जिले के नेताई जाने से रोके जाने के मामले में  राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्य सचिव को तलब किया था। राजभवन की ओर से कहा गया है कि उन्हें इस मामले में 31 जनवरी को राजभवन आकर अपना पक्ष रखना है। बीते दिनों शुभेंदु अधिकारी को धनखड़ जिले नेताई जाने से रोका गया था। वो 11 साल पुराने गोलीबारी में मारे गए लोगों को सम्मान देने की मांग को लेकर वहां जाने वाले थे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − eight =