बंगाल सरकार ने खुदरा शराब की दुकानों को बीयर की आपूर्ति की मात्रा तय की

प्रतिकात्मक फोटो, साभार गूगल

कोलकाता। बंगाल में बीयर प्रेमियों के लिए एक बुरी खबर है, वह भी ऐसे समय में, जब भीषण गर्मी के कारण हल्के मादक पेय की मांग बढ़ रही है। राज्य के आबकारी विभाग ने अगले आदेश तक राज्य के खुदरा शराब दुकानों को बीयर की आपूर्ति की मात्रा तय करने का निर्णय लिया है। आबकारी विभाग ने इस संबंध में राज्य में मादक पेय पदार्थो के एकमात्र थोक आपूर्तिकर्ता पश्चिम बंगाल राज्य पेय निगम (डब्ल्यूबीएसबीसी) को स्पष्ट निर्देश जारी किया है और राशनिंग का फार्मूला भी उपलब्ध कराया है।

राशनिंग फार्मूले की व्याख्या करते हुए डब्ल्यूबीएसबीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न जाहिर न करने की शर्त पर कहा कि आबकारी विभाग के निर्देश के अनुसार, खुदरा शराब दुकान को एक महीने में उतनी ही बीयर की बोतलें या डिब्बे मिलेंगे, जितने निगम से पिछले वर्ष यानी 2021 में मिलते रहे थे। यह निर्देश अप्रैल 2022 से प्रभावी है और अगले आदेश तक जारी रहेगा, यानी जब तक बीयर का उत्पादन और आपूर्ति स्थिर नहीं हो जाती। राज्य के आबकारी विभाग ने अगले आदेश तक राज्य के खुदरा शराब दुकानों को बीयर की आपूर्ति की मात्रा तय करने का निर्णय लिया है।

आबकारी आयुक्त एस उमाशंकर ने स्वीकार किया कि महामारी से पैदा हुए हालात के कारण बीयर उत्पादन की गति धीमी हो गई है, जिससे आपूर्ति संकट पैदा हो गया है। हालांकि, मैंने उम्मीद जताई है कि स्थिति जल्द ही नियंत्रण में आ जाएगी और आपूर्ति स्थिर हो जाएगी और राशन वापस ले लिया जाएगा। यह पहली बार नहीं है, जब आबकारी विभाग ने राज्य में बीयर की राशन आपूर्ति का फैसला किया है। कई खुदरा शराब दुकानदारों का कहना है कि अगर राशनिंह लंबे समय तक जारी रहता है तो नया नियम चिंता का विषय होगा, क्योंकि अगले तीन महीनों में बीयर की मांग और बढ़ जाएगी, जब गर्मी का मौसम अपने चरम पर होगा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − seven =