रामपुर (उत्तर प्रदेश)। समाजवादी पार्टी के नेता मोहम्मद आजम खान को एक और झटका लगा है। उनके भरोसेमंद सहयोगी फसाहत अली खान ‘शानू’ 5 दिसंबर को होने वाले रामपुर विधानसभा उपचुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हो गए हैं। फसाहत अली, जो रामपुर में आजम खान के मीडिया-संपर्क भी रहे हैं, राज्य पार्टी प्रमुख भूपेंद्र चौधरी की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हो गए। बीजेपी पहले ही ‘पसमांदा (पिछड़े)’ मुसलमानों को लुभाने के लिए अभियान शुरू कर चुकी है।

फसाहत अली ने कहा, मुझे लगता है कि बीजेपी के शासन में समाज के सभी वर्गों को फायदा हुआ है और इसलिए मैंने कई अन्य मुसलमानों के साथ मिलकर इस बार बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया है। बता दें कि फसाहत अली ने अपने खून से राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा था, जिसमें कथित भेदभाव की शिकायत की थी कि भाजपा सरकार द्वारा आजम खान के साथ भेदभाव किया गया था।

रामपुर में कांग्रेस नेता, पांच बार विधायक रहे नवाब काजिम अली खान ने भी भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की है।
रामपुर सीट पर उपचुनाव आजम खान को 2019 में अभद्र भाषा के मामले में दोषी ठहराए जाने और बाद में राज्य विधानसभा की सदस्यता खो देने के बाद हो रहा है। 1996 में एक मामूली हार को छोड़कर, आजम खान ने 1977 के बाद से 10 बार रामपुर सीट जीती है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − five =