राज्यपाल ने डिप्टी स्पीकर को सौंपी नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ ग्रहण की जिम्मेदारी

कोलकाता। उपचुनाव में जीत दर्ज करने वाले तृणमूल कांग्रेस के दो विधायकों, सायंतिका बंद्योपाध्याय और रेयात हुसैन सरकार के शपथग्रहण की जटिलता को सुलझा लिया गया है। दोनों विधायकों की मांग के मुताबिक राज्यपाल ने शपथग्रहण की जिम्मेदारी पश्चिम बंगाल विधानसभा में डिप्टी स्पीकर आशीष बंद्योपाध्याय को दी है।

हालांकि, इसकी वजह से नए सिरे से समस्या शुरू हो गई है। सूत्रों ने बताया है कि आशीष ने यह जिम्मेदारी लेने से इनकार किया है। उनका कहना है कि अध्यक्ष के रहते हुए वह ऐसा नहीं करना चाहते क्योंकि ऐसा करने से अध्यक्ष की अवमानना होगी।

हालांकि खुद अध्यक्ष विमान बनर्जी और पार्टी के नेताओं ने आशीष बंदोपाध्याय को यह जिम्मेदारी निभाने को कहा है ताकि दोनों विधायक काम शुरू कर सके। गुरुवार को राज्यपाल ने देर रात इससे संबंधित निर्देशिका जारी की थी जिसके बाद से आज शुक्रवार को विधानसभा के विशेष सत्र में शपथ ग्रहण हो सकता है। हालांकि अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं है।

संविधान के अनुसार, चुनाव में जीतने के बाद नव निर्वाचित विधायकों का शपथग्रहण राज्यपाल की उपस्थिति में होता है। अगर राज्यपाल किसी को यह जिम्मेदारी सौंपते हैं, तो उनकी उपस्थिति में भी शपथग्रहण संभव है। इस नियम के तहत राज्यपाल ने डिप्टी स्पीकर को यह जिम्मेदारी सौंपी है।

स्पीकर विमान बंद्योपाध्याय ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उन्हें इस बारे में राजभवन से कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है, इसलिए वे इस पर अभी कोई टिप्पणी नहीं कर सकते।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *