चक्रवात सहायता भ्रष्टाचार : तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी नेताओं को किया बर्खास्त

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : बंगाल में चक्रवात ‘अम्फान’ से प्रभावित लोगों को मिलने वाली क्षतिपूर्ति राशि में कथित हेरफेर मामले में लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी है। सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई करते हुए कुछ पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को बर्खास्त कर दिया। वहीं भाजपा और माकपा का कहना है कि पार्टी में जो लोग भी इस संबंध में दोषी पाए जाएंगे, वे उनका बचाव नहीं करेंगे।

राज्य की 80 फीसदी पंचायतों पर नियंत्रण रखने वाली तृणमूल कांग्रेस को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। जबकि भाजपा और माकपा को भी ‘अम्फान’ सहायता वितरण के संबंध में आरोपों का सामना करना पड़ा रहा है और कुछ क्षेत्रों में लोग इनके खिलाफ भी प्रदर्शन कर रहे हैं।

विरोध प्रदर्शन पूर्वी मिदनापुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना में हो रहा है। ये जिले चक्रवात अम्फान से सबसे ज्यादा प्रभावित रहे हैं। यह चक्रवात पश्चिम बंगाल में 20 मई को आया था और इस दौरान 96 लोगों की मौत हो गई और बड़े पैमाने पर संपत्ति की क्षति हुई। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘ जब भी कोई शिकायत मिलती है, हम आरोपी नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करते हैं। हम या तो उन्हें निलंबित करते हैं या धन वापस कराते हैं। भ्रष्टाचार को हम बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करते हैं।’’

उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के कई स्थानीय नेताओं को पार्टी से भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद में शामिल होने के आरोप में बर्खास्त किया गया। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा था कि उनकी सरकार चक्रवात प्रभावित पीड़ितों को मुआवजे मिलने में आई ‘खामियों’ को दूर कर रही है। उन्होंने पार्टी के एक वर्ग के नेताओं को भ्रष्टाचार में शामिल होने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

तृणमूल कांग्रेस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही भाजपा को भी उन पंचायतों में विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ रहा है जहां उनका नियंत्रण है। भाजपा राज्य महासचिव सयांतन बासु ने कहा कि अगर इसमें जरा भी सच्चाई है तो प्रशासन को अपना काम करने दें। अगर कोई दोषी पाया जाता है तो पार्टी उसका बचाव नहीं करेगी। वहीं माकपा ने कहा कि दोषी पाए जाने वाले नेताओं के साथ पार्टी खड़ी नहीं होगी।

 

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − three =