वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अमेरिकी सीनेट में अपने एक संदेश में कहा कि सरकार अपने नागरिकों और उनके हितों की सुरक्षा की खातिर अतिरिक्त उपाय अपनाने और अधिक बलों की तैनाती करने के लिए तैयार है। राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा, ‘अगर जरूरत पड़ी तो अपने यहां के लोगों की खातिर मैं आतंकवादियों द्वारा किए जा रहे हमलों के खतरे से निपटने के लिए अतिरिक्त उपाय अपनाने का निर्देश दूंगा। फिलहाल यह जानना संभव नहीं है कि अमेरिकी सशस्त्र बलों की तैनाती का सटीक दायरा या अवधि अमेरिका के लिए आतंकवादी खतरों का मुकाबला करने के लिए कितना कारगर साबित होगी।’

उन्होंने अपने संदेश में कहा कि बाइडेन प्रशासन ने यूरोप में भी अमेरिकी सेना की संख्या में वृद्धि की थी ताकि रूसी आक्रमण के किसी भी खतरे से निपटा जा सके। राष्ट्रपति ने कहा, ‘रूसी आक्रमण से अपने मित्र देशों की सुरक्षा के लिए अमेरिका ने हाल के महीनों में लगभग 17,000 अतिरिक्त अमेरिकी सशस्त्र बलों की तैनाती के साथ, लगभग 90,000 अमेरिकी सशस्त्र बलों के जवानों की तैनाती यूरोप के नाटो देशों में की।’
बाइडेन ने कहा, उन्होंने अपने संवैधानिक और वैधानिक अधिकार के अनुरूप सभी मौजूदा अभियानों में कमांडर इन चीफ और मुख्य कार्यकारी के रूप में अमेरिकी सेना की भागीदारी का निर्देश दिया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × four =