ममता कांग्रेस के बाद अब भाजपा के असंतुष्ट नेताओं को तोड़ने की तैयारी में!

नई दिल्ली : तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी बीजेपी के सांसद और असंतुष्ट नेता सुब्रमण्यम स्वामी से आज दोपहर 3.30 बजे मुलाकात करेंगी। उसके बाद ममता बनर्जी शाम 5 बजे प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगी। दिल्ली दौरे के पहले दिन ममता बनर्जी की मौजदूगी में कांग्रेस के पूर्व नेता अशोक तंवर और कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद तथा जदयू से निष्कासित पवन वर्मा तृणमूल में शामिल हो गए हैं। राष्ट्रीय राजनीति में आने और पार्टी का देश भर में विस्तार करने के मकसद से तृणमूल का पार्टी तोड़ो अभियान जारी है। इसके लिए तृणमूल, भाजपा और जनता दल (यूनाइटेड) समेत कई पार्टियों के नेताओं को निशाना बना रही है।

इसी क्रम में ममता बनर्जी भाजपा के सांसद और असंतुष्ट नेता सुब्रमण्यम स्वामी से आज दोपहर 3.30 बजे मुलाकात करेंगी। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद ममता बनर्जी की पार्टी ने विस्तारवादी नीति अपनायी है और इसके लिए अलग-अलग राज्यों में तृणमूल के संगठन को मजबूत करने में जुटी है, ताकि 2024 के लोकसभा चुनाव में वह एक मजबूत संगठन के साथ उतर सकें और प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को मजबूत कर सके।

ममता बनर्जी की रोम यात्रा रद्द होने पर भाजपा के राज्यसभा के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाते हुए पूछा था कि ममता बनर्जी को क्यों रोम जाने से रोका गया है? यह विवाद उस वक़्त शुरू हुआ जब ममता बनर्जी को केंद्र की मोदी सरकार ने रोम जाने की अनुमति नहीं दी थी। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद ममता बनर्जी ने हमला बोला था। उल्लेखनीय है कि सुब्रमण्यम स्वामी लगातार भाजपा सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। कई बार वह आर्थिक मसलों पर मोदी को घेर चुके हैं। इधर सुब्रमण्यम स्वामी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की। राज्यपाल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि दो दशकों से घनिष्ठ रहे स्वामी और उनकी पत्नी रोक्साना के साथ मुलाकात हुई।

ममता बनर्जी उन्हीं नेताओं को जोड़ रही हैं जो कांग्रेस या दूसरी पार्टियों में किनारा कर दिए गए हैं या उपेक्षित है। भाजपा में जो हार्ड कोर संघ की पृष्ठभूमि वाले लोग हैं वे तो तृणमूल में नहीं आएंगे, लेकिन सेक्युलर छवि वाले नेता जो एक दूसरे विकल्प की तलाश कर रहे हैं उन्हें तृणमूल एक प्लेटफॉर्म मुहैया करा रही है। यही सेक्युलर छवि वाले नेता पैन इंडिया टीएमसी की मौजदूगी के बाद 2024 में ममता बनर्जी को प्रधानमंत्री पद के लिए दमदार उम्मीदवार घोषित कर सकते हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 3 =