प्रथम विजेता बने आदर्श पाण्डेय व राजबाला शर्मा

इंदौर (मप्र) : हिंदीभाषा डॉट कॉम परिवार की तरफ से मातृभाषा हिंदी के सम्मान की दिशा में निरन्तर स्पर्धा जारी है। इसी कड़ी में गद्य में ‘मेरा विद्यार्थी जीवन’ विषय पर आयोजित स्पर्धा में प्रथम विजेता आदर्श पाण्डेय एवं द्वितीय डॉ. धारा वल्लभ पाण्डेय ‘आलोक’ बने हैं। इसी प्रकार पद्य में राजबाला शर्मा ने प्रथम तथा उमेशचंद यादव ने द्वितीय स्थान पाया है। मंच-परिवार की सह-सम्पादक श्रीमती अर्चना जैन और संस्थापक-सम्पादक अजय जैन ‘विकल्प’ ने यह जानकारी दी।

आपने बताया कि, इस ३५ वीं स्पर्धा में भी सबने खूब उत्साह दिखाया और अनेक प्रविष्टियों में से श्रेष्ठता अनुरुप चयन और प्रदर्शन के बाद निर्णायक मंडल ने गद्य विधा में ‘तो ज्ञान दीपक न जलता’ के लिए आदर्श पाण्डेय(मुम्बई,महाराष्ट्र) को पहला स्थान दिया तो दूसरे स्थान पर रहकर ‘मेरा विद्यार्थी जीवन और रचना धर्मिता’ पर डॉ. धारा वल्लभ पाण्डेय (उत्तराखण्ड) ने सबको पीछे कर दिया।

आपने बताया कि, स्पर्धा में पद्य में इसी प्रकार ‘मस्ती भरे वो दिन’ पर राजबाला शर्मा(राजस्थान) पहली विजेता बनी,जबकि उमेशचंद यादव (उप्र) ने ‘मैं भी पढ़ने जाता था’ पर अपनी जीत का दूसरा स्थान सुरक्षित किया है। सह-सम्पादक श्रीमती जैन ने बताया कि,१.१६ करोड़ दर्शकों-पाठकों का अपार स्नेह पा चुके इस मंच की संयोजक सम्पादक प्रो.डॉ. सोनाली सिंह व मार्गदर्शक डॉ. एम. एल. गुप्ता ‘आदित्य’ ने सभी विजेताओं तथा सहभागियों को हार्दिक बधाई- शुभकामनाएं देते हुए सहयोग के लिए धन्यवाद दिया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =