जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति सचिवालय पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने भगवा झंडा फहरा दिया। विश्वविद्यालय प्रशासन की शिकायत पर गांधी नगर थाना पुलिस ने झंडा फहराने वालों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में मुक़दमा दर्ज किया है। गांधी नगर थाना अध्यक्ष नेमी चंद ने बताया, “विश्वविद्यालय प्रशासन की शिकायत पर एबीवीपी पदाधिकारियों पर सरकारी काम में बाधा डालने का मुक़दमा दर्ज कर जांच की जा रही है। तस्वीरों में झंडा भगवा नज़र आ रहा है, हम जांच कर रहे हैं। एबीवीपी के राष्ट्रीय मंत्री होशियार मीणा ने कहा, “हम अपनी जायज मांगों को लेकर कुलपति सचिवालय गए थे।

प्रदर्शन के दौरान हमारे हाथों में एबीवीपी संगठन का झंडा था, हमारा झंडा भगवा है तो है और भगवा हमारा गौरव है।” उन्होंने कहा, “हमने कुलपति सचिवालय पर अपनी मांगों को लेकर कब्जा किया और मांगें पूरी नहीं होने तक छात्र हित में हम प्रदर्शन जारी रखेंगे।” दूसरी ओर एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने कहा कि विश्वविद्यालय में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने तिरंगे की जगह भगवा ध्वज लहराया था। जबकि वहां तिरंगा लहराना चाहिए। इसलिए आज हम तिरंगा लेकर आए हैं ताकि राष्ट्रीय ध्वज को फिर से लहरा सकें।

इस दौरान एनएसयूआई के कार्यकर्ताओ ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की है। एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता रमेश भाटी ने कहा कि एबीवीपी के गुंडों ने छात्रसंघ चुनाव नजदीक आने के साथ ही बेवजह यूनिवर्सिटी में माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे है। लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। भाटी ने कहा कि यूनिवेर्सिटी में जहां तिरंगा फहराया जाता है। वहां एबीवीपी ने भगवा फहराया है। ऐसे में यूनिवर्सिटी प्रशाशन को एबीवीपी के गुंडों के खिलाफ सख्त करवाई करनी चाहिए। ताकि यूनिवर्सिटी में साम्प्रदायिक सौहार्द का माहौल बना रह सके।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 11 =