भारतीय व्यंजनो की एक झलक : कड़ी 3 (पश्चिम भारतीय राज्य)

फोटो साभार : गुगल

(पश्चिम भारतीय राज्य)

बद्रीनाथ साव, कोलकाता : भारतीय व्यंजनों की एक झलक श्रृंखला के कड़ी 2 के बाद अब बारी है कड़ी 3 की जिसमे मैं आपको पश्चिम भारतीय राज्यों की परम्परागत खान-पान से अवगत कराने की कोशिश करूँगा।

15. महाराष्ट्र : विशिष्ट पाव भाजी, वड़ा पाव की एक मात्र पहचान अगर कोई है तो वो है, मायानगरी की शान महाराष्ट्र। देश का कोई कोना ऐसा नहीं जहां से महाराष्ट्र मे आकर कोई बसा न हो। मतलब साफ़ है कि व्यंजनों में तमाम तरह के स्वादों का मिश्रण तो होगा ही, तो यहां की व्यंजनों की कुछ सूची इस प्रकार है। पाँव भाजी, वड़ा पाव, पुराण पोली, मिसाल पाव, मोदक, रगड़ा पेटिस, भरली वांगी, श्रीकंद, पोहा, साबूदाना खिचड़ी, रस्सा, सोल कढी, पिठला भाकरी, आमटी, बासुंदी, कैरी-चा-पन्हा , बोम्बिल।

16. गुजरात : अब हम महात्मा गाँधी के गृह राज्य गुजरात पहुँच चुके है और गुजरातियों के कहने ही क्या जितने कुशल ये व्यवसायी होते है उतने ही व्यंजनों के शौक़ीन। मजाल है की इनके बनाये व्यंजनों को आप चट ना करो और चट करने के बाद उँगलियाँ ना चाटो, तो गुजरात के वयंजनो की सूची कुछ इस प्रकार है। ढोकला इसका एक मात्र पेटेंट किसी के पास है तो वो गुजरात है। इसके अलावा आप यहां खांडवी, उंधियू, आम श्रीकंद, आम सलाद के साथ, गुजरती कढ़ी, बरडोली की खिचड़ी, मेथी का थेपला, दाल ढोकली, हांडवो, फाफड़ा, पात्रा, जैसे वयंजनो का भी लुफ्त उठा सकते हैं।

17. गोवा : गोवा हमारे देश का प्यारा सा समृध्द राज्य है, समुन्द्र के किनारे बसे इसकी खूबसूरती की जितनी भी तारीफ़ की जाय कम है। यहां के व्यंजनों की विशेषता ये है कि यहां आप देश में होते हुए विदेशी व्यंजनों का अनभुव कर लेंगे। गोवा के प्रमुख व्यंजनों की सूची कुछ इस प्रकार है। यहां की सबसे लुभावनी व्यंजनों की सूची में पोर्क विंदालू का नाम प्रमुख रूप से लिया जाता है, पर इसके अलावा क्सित्ति कोडी, शार्क अम्बोट टिक, चिकन सकति, सर्पोटेल, फैजोअदा, सोरक, समारची कोडी, पटोलिया, बेबीनका, गोअन खटखटे, सननस, कुलकुल, पेराड जैसे व्यंजन भी आपका मन मोह लेंगे।

18. दादर और नगर हवेली : अब हम भारत देश के केंद्रशासित राज्य दादर और नगर हवेली का रुख करेंगे। अरब सागर के तराई अंचल से सटा यह क्षेत्र मुख्यतः आदवासियों का माना जाता है, इस क्षेत्र में हमे व्यंजनों की प्रमुख सूचियों में मीठी दाल, कढ़ी, लेंटिल्स, पत्तियों की मीठी आचार, करण्डा बेरीज, अजोला पत्ती है जिसका स्वाद आपको दुबारा इस छेत्र की यात्रा करने के लिए विवश कर देगा।

19. दमन और दिउ : दमन और दिउ भी भारत के केंद्र शाषित राज्यों की सूची में ही आते है। समुंद्री तट पे स्थित यहां के लोगो का मुख्य भोजन समुंद्री जीव ही है। यहां के लोग विशेष तौर पर समुंद्री जीव का सेवन करते हैं, जिसमे प्रमुख रूप से झींगा से बनी व्यंजन, मछली से बनी व्यंजन और केकड़े से बनी व्यंजन शामिल है। पपड़ी और जेटी रोल यहाँ की पहचान है।

तो अबतक आपने मेरे साथ भारत के पूर्वोत्तर और मध्य राज्य : पश्चिम बंगाल, झारखण्ड, बिहार, ओड़िसा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़। उत्तरी राज्य : उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, जम्मू व कश्मीर, पंजाब सह पश्चिमी राज्य महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दादर-नागर हवेली, दमन-दिउ के व्यंजनों के बारे में जाना। अब मैं आपको अगली किस्त में भारत के दक्षिण हिस्से में ले जाऊँगा और वहाँ के स्वाद से आप सबको रूबरू करवाऊंगा।
जारी है……..

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 3 =