उदयपुर, 23 जून 2022 : आईआईएम उदयपुर द्वारा आयोजित ‘उन्नति’22 के चौथे संस्करण का समापन कर दिया गया है। यह 2022-24 के आने वाले एमबीए बैच के लिए एक सालाना शिक्षण प्री-बोर्डिंग कार्यक्रम है। सप्ताह भर चलने वाले कार्यक्रम उन्नति’22 में इंडस्ट्रीज एक्सपर्ट्स के साथ संवाद सत्र, शिक्षकों, आईआईएमयू बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के सदस्यों, पूर्व छात्रों और उद्योग जगत के सफल लोगों के साथ संवाद आदि का आयोजन किया गया था। उन्नति’22 का विषय ‘बी यू – आइडेंटिफाईंग द यूनिक सेल्फ’ था, जिसने 2022-24 के लिए आने वाले बैच को सीखने का अनुभव प्रदान किया। यह बैच जून के अंत में आईआईएम उदयपुर में अपनी परिवर्तनकारी यात्रा शुरू करेगा।da29f867-21c9-40f5-96b4-c931ef2978dd

उद्घाटन सत्र ‘इंट्रोडक्शन-ट्रांसफॉर्मिंग प्रेजेंट रीइमेजिनिंग फ्यूचर’ में, आईआईएम उदयपुर के निदेशक प्रो. जनत शाह ने कहा, “हमें छात्रों का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। बदलते व्यापार और वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए, हम भविष्य के बिजनेस लीडर्स को उसके अनुकूल और अभिनव बनाने की जरूरत को समझते है। इसलिए हमें इन आवश्यकता को पहचानते हुए सीखने की प्रक्रिया में तेजी लानी है। छात्रों को बोर्ड ऑफ गवर्नर्स, एलुमनी, फैकल्टी और इंडस्ट्री लीडर्स से महत्वपूर्ण अनुभव प्राप्त होगी। साथ ही, छात्रों को अपने और संतान के लिए अगले दो सालों का लक्ष्य निर्धारित करना होगा।”

नेक्स्टवेल्थ की सह-संस्थापक और सीईओ और आईआईएमयू की बोर्ड सदस्य, मैथिली रमेश ने छात्रों के साथ अपनी अनुभवात्मक यात्रा को साझा करते हुए कहा, “किसी को भी प्रकृति के तत्वों की तरह होना चाहिए। आग की तरह बनो। हर चीज को 100% दो और जीवन में आगे बढ़ने के लिए अपने रास्ते खुद बनाओ। पानी की तरह सोचें। अपने क्षितिज को व्यापक बनाएं, अलग-अलग चीजों को अनोखे तरीके से करें और समस्याओं को जीवन लक्ष्यों को पाने के अवसरों के रूप में देखें। खुली हवा बनें। दूसरों से अपनी तुलना करने से बचें। हर कोई अद्वितीय है और अपने रास्ते पर चल रहा है।

बड़ा लक्ष्य रखें और वहां पहुंचने के लिए जो कुछ भी करना पड़े, वह करें। पृथ्वी की तरह घूमें। जमीन से जुड़े रहें, अपनी जड़ों के प्रति सच्चे रहें और मजबूत नैतिक मूल्य रखें। अंतरिक्ष के बारे में सोचें। अपना ख्याल रखें, अपने व्यक्तिगत लक्ष्यों को प्राथमिकता दें। एमईडीएस मंत्र का पालन करें, जहां एम का अर्थ माइंड एंड मेडिटेशन, ई का अर्थ व्यायाम, डी का अर्थ स्वस्थ आहार और एस का अर्थ गहरी नींद है। अपने परिवार के प्रति आभारी रहें, आशीर्वाद लें और आईआईएमयू में अपने दो वर्षों का आनंद लें।”

उन्नति के अंतिम दिन छात्रों के साथ बातचीत करते हुए, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस के एमडी और सीईओ प्रशांत त्रिपाठी ने कहा, “आने वाले वर्षों के मेगाट्रेंड को समझना महत्वपूर्ण है। दुनिया के साथ बातचीत का तरीका अभूतपूर्व तेजी से बदल रहा है। यह उपभोक्ता प्रवृत्तियों, आदतों और सोच को आकार देगा। बड़े रुझानों पर विचार करें। यह आपको कई अवसर प्रदान करेगा और बदलते समय में प्रासंगिक बने रहने में आपकी सहायता करेगा। कभी विरोध न करें बल्कि बदलाव को अपनाएं।”

इसके अलावा, प्रो. संध्या भाटिया ने आईआईएमयू में उच्च गुणवत्ता वाले सीखने के अनुभव और अवसरों पर चर्चा करते हुए संगोष्ठी को संबोधित किया। उन्होंने 2030 के विजन और छात्रों में सर्वश्रेष्ठ लाने वाले परिवर्तनकारी मार्ग का उल्लेख किया। उन्नति के अंतिम दिन अर्चिता सोबती के नेतृत्व में “मानसिक स्वास्थ्य और तनाव प्रबंधन सत्र” आयोजित किया गया। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे तनाव को संभालना चाहिए और अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहिए।”c4a73dcc-bc2a-45a3-a989-4a5450ede0f8

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =