तिरंगा काव्य मंच का 24वां मासिक ऑनलाइन भव्य कवि सम्मेलन एवं मुशायरा सम्पन्न

कोलकाता । तिरंगा काव्य मंच का 24 वां मासिक ऑनलाइन कवि सम्मेलन एवं मुशायरा गत रविवार को नव साहित्य त्रिवेणी के सम्पादक डॉ. कुंवर वीर सिंह मार्तण्ड एवं अहमदाबाद के मशहूर शायर डॉ. भागिया’ ख़ामोश की अध्यक्षता में की गई। मंच संचालन कवयित्री अंजु छारिया एवं गजलकार ग़ज़लराज (बरेली) ने किया। कवि सम्मेलन के अध्यक्ष मार्तण्ड जी ने संबोधन में कहा कि हम सभी कविता विषय पर कलम चलाना भूल जाते हैं और अधिकतर अपने मूल से कटे रहते हैं, लेकिन इस बार सभी के प्रयास सराहनीय थे।

वही मुशायरे के अध्यक्ष डॉ. भागिया ख़ामोश ने अपने संबोधन में कहा कि मुशायरा बहुत कामियाब रहा, छोटी बहर में बड़े मफ़हूम ख़ूब रहे। चंचल हरेंद्र वशिष्ट के सुमधुर सरस्वती वंदना से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। देश के कई प्रान्तों के कवि एवं शायर गणों ने कविता एवं ग़ज़ल पाठ किया। चंचल हरेंद्र वशिष्ट, दीपिका रूखमांगद, पुनीता सिंह, भावना प्रीतिश तायवाड़े, हीरा लाल जायसवाल, डॉ. निर्मला शर्मा, अंजु छारिया, डॉ. सुभाष चन्द्र शुक्ल, प्रो. प्रेम शर्मा, सौदामिनी खरे, राज शुक्ल राज, गजेन्द्र नाहटा, मौसमी प्रसाद, पथिक जौनपुरी, डॉ. संजीव धानुका।

डॉ. कुंवर वीर सिंह मार्तण्ड, कृष्ण कुमार दूबे, डी.पी. लहरे ‘मौज’, संतोष रज़ा, डॉ. संजीव धानुका, “पुकार” गाजीपुरी, अलका मित्तल, पथिक जौनपुरी, सरफ़राज़ हुसैन फ़राज़, शम्भू लाल जालान निराला, ग़ज़लराज, गिरीश पाण्डे, रणजीत भारती, राम नरेश गुप्ता ‘सावन’, हीरा लाल यादव, डॉ. भागिया ख़ामोश ने काव्य एवं ग़ज़ल पाठ किया। गजेन्द्र नाहटा, अलका मित्तल ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सक्रिय भूमिका निभाई। धन्यवाद ज्ञापन संयोजक शम्भू लाल जालान निराला ने दिया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − ten =