कोरोना संकट बीच 185 नर्सों ने दिया इस्तीफा, मुश्किलें बढ़ी

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : बंगाल की राजधानी कोलकाता में हाल के दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के बाद यहां विभिन्न निजी अस्पतालों में नौकरी करने वाली मणिपुर की कम से कम 185 नर्सें इस्तीफा देकर अपने गृह राज्य के लिये रवाना हो गई हैं। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

एक निजी अस्पताल के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान पहले से ही नर्सों की कमी है और ऐसे में इन नर्सों के चले जाने से दिक्कत बढ़ेगी। इस निजी अस्पताल की भी नौ नर्स नौकरी छोड़ कर जा चुकी हैं। इस्तीफा देने वाली एक नर्स ने फोन पर बताया कि हमारे अभिभावक चिंतित हैं और यहां रोजाना मामले बढ़ने से हम भी काफी तनाव में हैं। हमारा राज्य एक हरित प्रदेश है और हम घर वापस जाना चाहते हैं।

परिवार और माता-पिता हमारी प्राथमिकता है। एक अन्य नर्स ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि  अगर हम जीवित बचें, तो आगे भी नौकरी मिल जाएगी। जानकारी के अनुसार महानगर के पीयरलेस अस्पताल से 25, आरएन टैगोर से 10, आमरी से 10, अपोलो से 10, फोर्टिज से 16, चारनॉक से 27, मेडिका से 3, इरिस से 11, ईईडीएफ से 10, आरएसवी से 3, केपीसी से 3, बीपी पोद्दार से 9, रूबी से 6, इस्टीट्यूट ऑफ न्यूरो साइंस से 1, आईक्यू सिटी मेडिकल से 2 और बेलव्यू से 3 नर्सों ने इस्तीफा दे दिया है।

गौरतलब है कि  राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 10 और लोगों की मौत हो जाने से कुल मृतक संख्या बढ़ कर 153 हो गई। एक स्वास्थ्य बुलेटिन में यह कहा गया है। वहीं, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के कम से कम 84 नये मामले सामने आने के साथ कोरोना के कुल मामले बढ़ कर 2,461 हो गये हैं। इनमें 1,407 मरीजों का इलाज चल रहा है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − 8 =